Tuesday, July 20, 2010

में एक विचार हु आप सब के भीतर हु !

में आप को ये बताने की आवशकता नहीं समझता के मंहगाई कितनी है !
बस कुछ ऐसा करो के किसी गरीब बच्चे को रोटी मिल सके !
धन्यवाद !















21 comments:

  1. में एक विचार हु ! जो आप के भीतर भी है

    वाह...
    अच्छी पोस्ट

    ReplyDelete
  2. अगर सबके मन में एक यही विचार जन्म ले ले तो शायद ये दुनिया बहुत जल्द स्वर्ग में तब्दील हो जाए.....

    ReplyDelete
  3. पं.डी.के.शर्मा"वत्स" जी
    आपने बिलकुल ठीक और सटीक बात की है

    ReplyDelete
  4. Acche vichar good

    ReplyDelete
  5. कम शब्दों में ही धार...बहुत खूब.

    ReplyDelete
  6. शानदार! प्रशंसनीय!!

    -डॉ. पुरुषोत्तम मीणा 'निरंकुश'
    सम्पादक-प्रेसपालिका (जयपुर से प्रकाशित पाक्षिक समाचार-पत्र) एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष-भ्रष्टाचार एवं अत्याचार अन्वेषण संस्थान (बास) (जो दिल्ली से देश के सत्रह राज्यों में संचालित है।
    इस संगठन ने आज तक किसी गैर-सदस्य, सरकार या अन्य किसी से एक पैसा भी अनुदान ग्रहण नहीं किया है। इसमें वर्तमान में ४३६६ आजीवन रजिस्टर्ड कार्यकर्ता सेवारत हैं।)। फोन : ०१४१-२२२२२२५ (सायं : ७ से ८) मो. ०९८२८५-०२६६६

    ReplyDelete
  7. बहुत अच्छी प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  8. जब कोई बड़ी बात चन्द शब्दों में कही जाये, तो क्यों न उसे विचार का अचार कहा जाये. बहुत स्वादिष्ट !

    ReplyDelete
  9. चलिये कुछ तो किया जायेगा...आपकी अपील ज़रूर सरका से होगी
    http://merajawab.blogspot.com
    http://kalamband.blogspot.com

    ReplyDelete
  10. आप की रचना 23 जुलाई, शुक्रवार के चर्चा मंच के लिए ली जा रही है, कृप्या नीचे दिए लिंक पर आ कर अपने सुझाव देकर हमें प्रोत्साहित करें.
    http://charchamanch.blogspot.com

    आभार

    अनामिका

    ReplyDelete
  11. उत्तम प्रस्तुति ....
    _______
    http://coralsapphire.blogspot.com/2010/07/blog-post.html

    ReplyDelete
  12. main to bhayi speachless ho gaya yaha aakar ..kya kahun .. kadwe satya hai ..aur aapne bahut acche prastut kiya hai ..

    ReplyDelete
  13. कम शब्दों में ही धार...बहुत खूब.

    ReplyDelete
  14. इस नए सुंदर से चिट्ठे के साथ आपका हिंदी ब्‍लॉग जगत में स्‍वागत है .. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  15. हिंदी ब्लाग लेखन के लिए स्वागत और बधाई
    कृपया अन्य ब्लॉगों को भी पढें और अपनी बहुमूल्य टिप्पणियां देनें का कष्ट करें

    ReplyDelete